उजड़ा चमन फिल्म रिव्यु

30 साल का गंजा लेक्चरर, जो दिल्ली के हंसराज कॉलेज में हिंदी पढ़ाता है। समय से पहले गंजे होने की वजह से उसे लड़की नहीं मिल रही है। वो लड़की पाने को लेकर इतना उत्सुक है कि हर लड़की पर ट्राई करता है। वो गंजा है लेकिन उसका सपना है कि उसकी खूबसूरत सी बीवी हो। 30 साल के चमन कोहली (सनी सिंह) को गंजापन उनके दादा जी की वजह से मिला है। उसकी कुंडली देखकर पंडित ने कहा कि अगर उसकी शादी 31वें जन्मदिन से पहले नहीं हुई तो वो आजीवन कुंवारा रहेगा। घरवाले जोरों शोरों से लड़की ढूंढ़ते हैं लेकिन गंजेपन की वजह से उसे हर लड़की रिजेक्ट कर देती है। क्या चमन को उसकी पसंद की लड़की मिलेगी? क्या खूबसूरत लड़की से शादी करने का सपना चमन पूरा कर पाएगा? इसी के इर्द गिर्द ये फिल्म घूमती है।

अब बात करते हैं कि फिल्म कैसी है? यह फिल्म शुरू तो होती है गंजेपन की समस्या से, लेकिन आगे यह फिल्म फोकस हो जाती है लड़के की इस समस्या पर कि उसकी जिंदगी में कोई लड़की नहीं है। कहीं ये फिल्म अतिशयोक्ति से भरी है। यह फिल्म आपको प्रभावित करने में कामयाब नहीं होती है। सनी सिंह के हाव भाव शुरुआत से अंत तक एक जैसे लगते हैं। अप्सरा के रोल में एक्ट्रेस मानवी गगरू प्रभावित करती हैं। सह-कलाकार सौरभ शुक्ला, शारिब हाशमी, करिश्मा शर्मा, गौरव अरोड़ा और ऐश्वर्या सखूजा अपने किरदारों में जंचते हैं।

फिल्म महज 2 घंटे की है लेकिन आपको लंबी लगती है। फिल्म बहुत स्लो है और संजीदा विषय को कॉमेडी में ढालने की वजह से फिल्म कमजोर पड़ने लगती है। फिल्म से आप जुड़ने की कोशिश करेंगे लेकिन आप ना ठीक से हंस पाएंगे और ना ही इमोशनल हो पाएंगे। फिल्म का निर्देशन भी कमजोर है।

आयुष्मान खुराना की फिल्म बाला के साथ विवाद की वजह से फिल्म को काफी पॉपुलैरिटी मिली, फिल्म का ट्रेलर भी दर्शकों को पसंद आया था लेकिन अफसोस की बात यह है कि फिल्म आपको खास इम्प्रेस नहीं कर पाएगी। यह फिल्म आप अलग तरह की लव स्टोरी देखने के शौकीन हैं तो देख सकते हैं। वरना कुछ दिन में यह फिल्म अमेजॉन प्राइम पर आने वाली है वहां भी आप इसे देख सकते हैं। इंडिया टीवी इस फिल्म को दे रहा है 5 में से 2.5 स्टार।

About the author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *